Advertisement

लापरवाह Kia Seltos ड्राइवर ने बेंगलुरु में सिग्नल पर स्कूटर में पीछे से मारी टक्कर: डैशकैम वीडियो

लापरवाह सवारी और ड्राइविंग भारतीय सड़कों पर दुर्घटनाओं का प्रमुख कारण है। भारतीय सड़कों पर लगभग हर दिन दुर्घटनाएं होती हैं, और अब अधिक लोगों द्वारा अपनी कारों में डैशकैम लगाने के कारण, हमें इंटरनेट पर इन दुर्घटनाओं के वीडियो देखने को मिलते हैं। यहां हमारे पास बेंगलुरु का एक ऐसा वीडियो है जहां एक लापरवाह Kia Seltos ड्राइवर ने पीछे से एक स्कूटर सवार को टक्कर मार दी।

वीडियो को प्रतीक सिंह ने अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया है. जैसा कि पोस्ट में बताया गया है, यह वीडियो संभवत: उनके किसी फॉलोवर ने उन्हें ऑनलाइन भेजा था। वीडियो फॉलोअर की कार के रियर डैश कैमरे पर रिकॉर्ड किया गया था। कार शहर की एक व्यस्त सड़क से गुजर रही थी तभी ड्राइवर ने देखा कि ट्रैफिक सिग्नल लाल हो गया है।

डैशकैम वाली कार के ड्राइवर ने गाड़ी धीमी की और उसके पीछे एक स्कूटर सवार था। ट्रैफिक सिग्नल के कारण स्कूटर सवार की गति भी धीमी हो गई। हमें दूर से स्कूटर के पीछे एक Kia Seltos एसयूवी भी दिखाई देती है। सिग्नल पर रुकने का संकेत होने के कारण सभी वाहन धीमे हो गए, लेकिन सेल्टोस ने ऐसा नहीं किया। ऐसा लग रहा था कि एसयूवी के ड्राइवर का ध्यान यातायात पर न हो कर कहीं और था जिस कारण उसकी गति में कोई परिवर्तन नहीं आया।
जैसा कि वीडियो में हम देख सकते हैं कि, कार ने गति पकड़ ली और कुछ ही समय में Kia Seltos स्कूटर और डैशकैम कार के ठीक पीछे थी। Kia Seltos ड्राइवर ने जबतक स्कूटर देखा और ब्रेक लगाया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। एसयूवी ने स्कूटर को पीछे की ओर से टक्कर मार दी थी। अचानक टक्कर लगने से स्कूटर पर सवार और पीछे बैठा व्यक्ति दोनों ही असंतुलित हो गए और स्कूटर से गिर गए।

लापरवाह Kia Seltos ड्राइवर ने बेंगलुरु में सिग्नल पर स्कूटर में पीछे से मारी टक्कर: डैशकैम वीडियो
Seltos crashed into scooter

टक्कर तेज़ थी और सड़क पर गिरने से पहले दोनों हवा में उड़ गए। गनीमत है, दोनों ने हेलमेट पहन रखा था (हम उस पर बाद में विचार करेंगे)। इस दुर्घटना में Kia Seltos का बोनट क्षतिग्रस्त हो गया। स्कूटर ने डैशकैम कार को टक्कर मार दी, और यह स्पष्ट नहीं है कि फॉलोअर की कार क्षतिग्रस्त हुई या नहीं। अतीत में हमने जितने भी मामले देखे हैं, उनमें लापरवाही से गाड़ी चलाना दुर्घटनाओं का प्रमुख कारण है, और यह भी कोई अलग बात नहीं है।

कार चालक का ध्यान शायद अपने फोन के कारण भटक गया था, जिससे उसकी नजरें सड़क से हट गईं। भारी ट्रैफिक वाली शहर की सड़कों पर एक सेकंड के लिए भी ध्यान भटकना आपको भारी पड़ सकता है।

हेलमेट

इस मामले में, स्कूटर पर सवार और पीछे बैठे व्यक्ति दोनों ने ही हेलमेट पहना हुआ था। हालाँकि, यदि आप ध्यान से देखें, तो ये हेलमेट मानक स्तर के नहीं हैं। सवार ने निम्न-गुणवत्ता वाला प्लास्टिक हेलमेट पहना है जो उसके सिर पर फिट नहीं बैठता है। वास्तव में हेलमेट ढीला था और टकराने पर अलग हो गया। स्कूटर पर पीछे बैठे व्यक्ति ने भी पीले रंग का हेलमेट पहन रखा था, जो आमतौर पर निर्माण स्थलों पर पहना जाता है।

उचित सवारी हेलमेट पहनना बेहद महत्वपूर्ण है। इस मामले में, सवार और पीछे बैठे व्यक्ति भाग्यशाली थे कि यह कम गति वाली दुर्घटना थी और वे गंभीर रूप से घायल नहीं हुए। यदि यह तेज़ गति वाली दुर्घटना होती, तो संभवतः सवारों के सिर में चोटें आतीं क्योंकि उन्होंने उचित हेलमेट नहीं पहना था। यह वीडियो इस बात का एक और उदाहरण है कि भारतीय सड़कों पर गाड़ी चलाते समय हमेशा सतर्क क्यों रहना चाहिए।