Advertisement

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति Donald Trump एक बार फिर से सुर्खियों में आए हैं। इस बार उन्होंने कुछ बहुत विवादास्पद कहा है। ट्रंप ने हाल ही में अपने MAGA (मेक अमेरिका ग्रेट अगेन) रैली के दौरान घोषणा की है कि वे चुने जाने पर इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) की बिक्री रोकने की योजना बना रहे हैं। इसके साथ ही, उन्होंने बाइडेन प्रशासन द्वारा लागू की गई कई जलवायु नीतियों और प्रोत्साहनों को उलटने का प्रस्ताव दिया है। उनके ईवी विरोधी रुख ने अब न केवल अमेरिका बल्कि पूरे विश्व के मोटर वाहन उद्योग में चिंता पैदा कर दी है।

ट्रंप का ईवी के खिलाफ रुख

अपने भाषण के दौरान, Donald Trump ने घोषणा की है कि उनकी योजनाओं में ईवी टैक्स क्रेडिट को कम करना और टेलपाइप इमिशन लक्ष्यों को पीछे ले जाने जैसे महत्वपूर्ण नीतियों को खत्म करना शामिल है। उन्होंने यह भी जोड़ा है कि वे बाइडेन की जलवायु नीति के महत्वपूर्ण तत्वों को भी खंडित करेंगे।

यह विशेष प्रस्ताव ने ऑटोमोटिव निर्माताओं में मजबूत विरोध पैदा किया है। उन्होंने कहा है कि वे निवेशों और नौकरी विकास पर होने वाले नकारात्मक प्रभावों के बारे में चिंतित हैं। फोर्ड मोटर के कार्यकारी चेयरमैन विलियम क्ले फोर्ड जूनियर ने राजनीतिक निर्णयों के बदलते हुए नीतियों के कारण उद्योग की अस्थिरता के बारे में अपनी चिंताओं को व्यक्त किया है।

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

उन्होंने कहा, “एक कंपनी के रूप में हमारी समय सीमा, हमारी योजना समय सीमा, चुनाव चक्रों की तुलना में बहुत लंबी है। फोर्ड ने यह भी कहा, “जब हम राजनेताओं की इस रस्साकशी में फँस जाते हैं तो यह हमारे लिए वास्तव में मुश्किल हो जाता है।

Donald Trump ने वर्षों से जलवायु परिवर्तन के वैज्ञानिक सबूतों को खारिज कर दिया है। कई बार उन्होंने कहा है कि यह सिर्फ एक झूठ है। पूर्व राष्ट्रपति ने कहा है कि Electric Car भविष्य नहीं हैं और वे सिर्फ बाइडेन प्रशासन और उसके समर्थकों की योजनाओं को प्रमोट करने के लिए बेची जा रही हैं।

निवेश और नौकरियां संकट में

बाइडेन प्रशासन की महत्वपूर्ण उपलब्धि में से एक है इंफ्लेशन रेडक्शन एक्ट। वर्तमान में, इस एक्ट के कारण अमेरिका में ईवी निर्माण में विशाल निवेश हुआ है। इसमें से एक मुख्य निवेश है साउथ कोरियाई ऑटोमोबाइल निर्माता Hyundai का।

कंपनी जॉर्जिया में $ 13 बिलियन का निवेश कर रही है, एक राज्य ट्रम्प 2020 में संकीर्ण रूप से हार गया। यह नया निवेश 12,000 नौकरियां बना रहा है। इसी तरह, एसके ऑन ने भी जॉर्जिया में ईवी उत्पादन के लिए 5 अरब डॉलर का निवेश किया है।

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

उद्योग विशेषज्ञ मानते हैं कि ये निवेश न केवल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देते हैं बल्कि मुख्य राज्यों में हजारों नौकरियां भी बनाते हैं। और अगर ट्रम्प इन नीतियों को वापस लेते हैं, तो यह इन निवेशों को खतरे में डाल सकता है और ब्लू-कॉलर अमेरिकी नौकरियों को खतरे में डाल सकता है।

यदि ट्रंप फिर से चुने जाएंगे और यूएसए कांग्रेस को नियंत्रण मिलता है, तो विशेषज्ञों ने कहा है कि 2022 इंफ्लेशन रेडक्शन एक्ट के कुछ हिस्सों को रद्द करने के प्रयास हो सकते हैं। इस एक्ट में वर्तमान में साफ ऊर्जा और ईवी निर्माण के लिए लगभग 370 अरब डॉलर का कर क्रेडिट प्रदान किया जाता है।

अमेरिका में ईवी मार्केट का भविष्य

नीति के बदलने के बावजूद, ईवी मार्केट पूरी तरह से ठप्प होने की संभावना नहीं है। चार्जिंग स्टेशन और बैटरी निर्माण जैसे ईवी इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश जारी रहेंगे।

टेक्सास और फ्लोरिडा जैसे रिपब्लिकन केंद्रों में इलेक्ट्रिक वाहनों की महत्वपूर्ण मांग देखी जा रही है। यह मांग इंगित करती है कि ईवी ने शुरुआती अपनाने वालों से मुख्यधारा के उपभोक्ताओं तक की बाधा को पार कर लिया है।

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

Tesla मॉडल Y

अमेरिकी ईवी मार्केट की वर्तमान स्थिति

अमेरिका में ईवी मार्केट ने पिछले कुछ वर्षों में तेजी से विकास किया है। 2016 में, अमेरिका में केवल 159,139 इलेक्ट्रिक वाहन बिक गए थे। हालांकि, 2024 तक, बिक्री 1.5 मिलियन इकाइयों से अधिक होने की प्रक्षेपणा की जा रही है।

वैश्विक ईवी मार्केट की वर्तमान स्थिति

अब, वैश्विक ईवी मार्केट की स्थिति पर आते हैं, इसे फ्लक्चुएशन का सामना करना पड़ रहा है। समग्र विकास के बावजूद, हाल की रिपोर्टें इसके बिक्री में गिरावट की घोषणा कर रही हैं। इस अवधि में गिरावट के कारणों में आपूर्ति श्रृंखला के विघटन, बढ़ते कच्चे माल के खर्च और आर्थिक अनिश्चितताएं शामिल हैं। 2023 में, वैश्विक ईवी बिक्री ने पिछले वर्षों की तुलना में एक महत्वपूर्ण गिरावट देखी।

भारत में ईवी मार्केट

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

भारतीय इलेक्ट्रिक वाहन मार्केट के बारे में बात करते हैं, हमारा देश धीरे-धीरे इलेक्ट्रिक वाहनों को अपना रहा है। भारत सरकार ने वर्षों से ईवी बिक्री को बढ़ावा देने के लिए कई प्रोत्साहन उपयोग में लाए हैं। इन प्रोत्साहनों में सब्सिडी, कर लाभ और चार्जिंग स्टेशन के लिए बुनियादी ढांचे का विकास शामिल है।

तो, एक संयुक्त प्रभाव के रूप में, भारत में ईवी बिक्री में वृद्धि हुई है। 2023 में, भारत में ईवी बिक्री में वर्ष-वर्ष में वृद्धि देखी गई। और सबसे महत्वपूर्ण योगदान दोपहिया और वाणिज्यिक वाहनों से आए थे।

टाटा मोटर्स, महिंद्रा और ओला इलेक्ट्रिक जैसे प्रमुख खिलाड़ी ने भी देश में बढ़ती बिक्री की रिपोर्ट की है। वर्तमान में, भारतीय सरकार का 2030 तक 30% इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को प्राप्त करने का एक महत्वाकांक्षी लक्ष्य है। इसके लिए, यह भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहित करने के लिए अपनी सबसे अच्छी कोशिश कर रही है।

ईवी के सामने आने वाली कठिनाइयाँ

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

हालांकि, इलेक्ट्रिक वाहनों की स्वीकृति में काफी वृद्धि हुई है, लेकिन खरीदारों की ओर से अभी भी हिचकियाँ हैं। वर्तमान में, इलेक्ट्रिक वाहनों को उच्च आगे की लागत, सीमित चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर और उपभोक्ता संदेह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

तो, इन बाधाओं को पार करने के लिए, भारतीय सरकार बैटरी निर्माण क्षमता बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। यह भी ऑटोमोबाइल निर्माताओं को देशभर में चार्जिंग नेटवर्क का विस्तार करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। यह नियमित नीति समर्थन प्रदान कर रही है।

ईवी की वास्तविकता: क्या वे उतने ही साफ हैं जितने वे लगते हैं?

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

जबकि ईवी को अक्सर पारंपरिक आईसीई वाहनों के एक स्वच्छ विकल्प के रूप में बताया जाता है, वास्तविकता इससे थोड़ी जटिल है। ईवी का पर्यावरणीय प्रभाव उनके शून्य-उत्सर्जन संचालन से परे है। इलेक्ट्रिक वाहनों के कार्बन पादप्रभाव में कई कारक शामिल होते हैं और यहां उनकी सूची है।

बैटरी उत्पादन

कई लोग इलेक्ट्रिक वाहन बैटरी के उत्पादन के पर्यावरणीय प्रभाव को कम महत्व देते हैं। ईवी के लिए आवश्यक लिथियम-आयन बैटरी का उत्पादन, महत्वपूर्ण पर्यावरणीय लागतों के साथ जुड़ा होता है। वर्तमान में, खनन और प्रसंस्करण जैसे कच्चे माल के लिए लिथियम, कोबाल्ट और निकेल का उत्पादन महत्वपूर्ण पर्यावरणीय क्षति और कार्बन उत्सर्जन का कारण बनता है।

Donald Trump: चुनाव जीतने पर Electric Car की बिक्री बंद करवा दूंगा [वीडियो]

ऊर्जा स्रोत

ईवी की स्वच्छता बड़े हिसाब से उन बिजली स्रोत पर निर्भर करती है जिनका उपयोग इसे चार्ज करने के लिए किया जाता है। जहां कोयला या अन्य जीवाश्म ईंधन का उपयोग बिजली उत्पादन के लिए किया जाता है, वहां यह कहा जा सकता है कि ईवी की कार्बन फुटप्रिंट महत्वपूर्ण हो जाता है। इसलिए यह समग्र रुख में जोड़ता है कि ईवी उतने कम प्रदूषणकारी नहीं हैं जितना कि उन्हें कहा जाता है।

एन्ड-ऑफ़-लाइफ का प्रबंधन

अंतिम रूप से, ईवी बैटरी के उचित निपटान और रीसायकलिंग पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने में महत्वपूर्ण है। मौजूदा रीसायकलिंग प्रौद्योगिकियाँ पूरी तरह से कुशल नहीं हैं। इसलिए इन बेकार बैटरियों की अनुचित हैंडलिंग प्रदूषण को बढ़ा रही है और संसाधनों को बर्बाद कर रही है।

स्रोत