Advertisement

क्यों Mahindra Scorpio में 18 लोगों के साथ यात्रा करना है एक खराब विचार?

भारत में ग्रामीण क्षेत्रों में यात्रा करते समय, हम अक्सर लोगों और सामग्री से भरे हुए मल्टी यूटिलिटी वाहन (एमयूवी) देखते हैं। इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के द्वारा ये वाहन एक परिवहन के रूप में प्रयोग किये जाते हैं। हालाँकि लोग आमतौर पर इस उद्देश्य के लिए Force Tracks तूफान या Sumo जैसी कार या एमयूवी का उपयोग करते हैं। आज हमारे पास एक ऐसा वीडियो है जिसमें एक Mahindra Scorpio से एक के बाद एक 18 सवारियाँ निकलती देखी गईं। हो सकता है आपको यह मजाक लगे और कुछ लोगों को इसमें कुछ ख़ास न भी लगे, लेकिन आपको हम बताएंगे कि क्यों ऐसा करना बिलकुल भी अक्लमंदी नहीं है।

एसयूवी का सही उपयोग
द्वाराu/solenoidic inCarsIndia

वीडियो को Cars India ने रेडिट पर शेयर किया था और यह कहीं उत्तर भारत में रिकॉर्ड किया गया था। वीडियो में, हम एक पूरी तरह से भरी हुई Mahindra Scorpio एसयूवी देखते हैं। Scorpio के रुकने पर जब दरवाजा खुलता है तो एक के बाद एक लोग बाहर निकलने लगते हैं। ऐसा लगता है कि एक परिवार के सभी सदस्यों ने एक साथ एक ही एसयूवी में बैठने का फैसला किया।

वीडियो हम देखते हैं कि हर बार जब कोई व्यक्ति कार से नीचे उतरता है तो कार की ऊंचाई थोड़ी सी बढ़ जाती है, इससे पता चलता है की Scorpio एसयूवी का पीछे का सस्पेंशन पूरी तरह से कम्प्रेस हो गया है। कुल मिलाकर, Mahindra Scorpio में ड्राइवर सहित 18-19 लोग थे। ऐसा लगता है कि वे सभी किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए एक साथ यात्रा कर रहे थे।

क्यों है यह एक बुरा विचार?

वीडियो में हम कार को इतने सारे यात्रियों के साथ चलते हुए नहीं देख पाते हैं हालांकि, हमारा मानना है की ये सभी लोग कार में यात्रा कर रहे थे। इतने सारे लोगों को एक साथ बिठा कर कार चलाना बहुत खतरनाक होता है क्योंकि वाहन ओवरलोड हो जाता है। Mahindra Scorpio एक 7 सीटर एसयूवी है जिसे अधिक से अधिक 7 या 8 लोगों के लिए डिज़ाइन किया गया है। हालांकि, इस वीडियो में हम 11 और लोगों को देख सकते हैं, जो की इस एसयूवी की क्षमता से बहुत अधिक वजन है। ओवरलोड वाहन के अनियंत्रित होने की संभावना काफी ज्यादा होती है। हालाँकि इस घटना में भाग्य से, ऐसा कुछ नहीं हुआ; यदि ऐसा होता, तो सभी यात्री गंभीर रूप से घायल हो सकते थे।

क्यों Mahindra Scorpio में 18 लोगों के साथ यात्रा करना है एक खराब विचार?
ओवरलोडेड स्कॉर्पियो

हम ओवरलोडिंग के बारे में बात कर रहे हैं तो यह जानना आवशयक है कि ओवरलोडेड वाहन चलाना अवैध है, और अगर पुलिस ऐसे वाहन को रोक कर इस पर जुर्माना जारी कर सकती है।

ओवरलोडिंग वाहन के प्रदर्शन पर भी असर डालती है। वाहन की गति तो काम होती ही है साथ में ब्रेकिंग भी अस्पष्ट हो जाती है। लंबी यात्राओं के दौरान वाहन के गर्म होने की संभावना भी बढ़ जाती है क्योंकि आप इंजन को उसकी क्षमता से ज़्यादा काम करने के लिए मजबूर कर रहे हैं।

अगला बिंदु यात्रियों के दृष्टिकोण से है। यदि आप इस ओवरलोडेड Mahindra Scorpio में हैं, तो आप सीट बेल्ट पहनने में सक्षम नहीं होंगे, जिससे यात्रा बहुत अधिक खतरनाक हो जाएगी। सीट बेल्ट पहनने के महत्त्व को बताने वाले कई उदाहरण हमें अपने आस-पास मिलते हैं।

ओवरलोडिंग के कारण टायर फटने की संभावना भी काफी ज्यादा हो जाती है। प्रत्येक टायर का एक टायर लोड इंडेक्स होता है, यह कोड दर्शाता है कि टायर उचित हवा दबाव पर फूलने पर सुरक्षित रूप से कितना वजन उठा सकता है। इस वीडियो में, वजन निश्चित रूप से सीमा से अधिक था। जब आप टायर पर उससे अधिक दबाव डालते हैं, तो टायर फट जाता है। जब ऐसा होता है, तो कार अनियंत्रित हो कर दुर्घटनाग्रस्त हो सकती है।

ओवरलोडिंग एक अत्यंत खतरनाक स्टंट है, और आपसे हमारा अनुरोध है कि सार्वजनिक सड़कों पर ऐसे स्टंट करने से बचें। ऐसा करके आप स्वयं भी सुरक्षित रहेंगे और दूसरों को भी सुरक्षित रखेंगे।